क्या आप जानते है दुनिया के सबसे खतरनाक हथियार Ak-47 के बारे मे रोचक तथ्य

Automatic Kalashnikov 47

Automatic Kalashnikov

तो आज हम बात करने वाले है AK 47 राइफल की। वैसे तो दुनिया मे कई ताकतवर हथियार है पर इसे दुनिया का सबसे खतरनाक हथियार माना जाता है। इसके कई कारण है, जिसे हम इन रोचक तथ्य मे बताने वाले है। AK 47 को इतना पसंद किया गया की समय के साथ इसमे थोड़े बहोत बदलाव होते रहे है।

एके-47 को एक रूसी सैनिक मिखाइल कलासनिकोव ने बनाया था। हालाकी मिखाइल ने कभी भी किसी युद्ध मे भाग नही लिया पर रूसी सैनिको के शिकायत पर उन्होने ऐसा हथियार बनाया जिसका आज कोई मूकाबला नही है। तो चलिए बात करते है

Interesting fact of AK 47

1. सबसे पहले बात करते है इसके नाम की तो AK 47 मे AK का मतलब होता है Automatic Kalashnikov और क्योकी यह सन 1947 मे बनी थी इसलिए इसके आखिरी मे 47 लिखा हुआ है। जो उस साल को दर्साता है।

2. मिखाइल कलासनिकोव ने इसे सालो की मेहनत के बाद सोवियत सैनिको के लिए बनाया था। क्योकी पुराने हथियार अलग-अलग मौसम मे खराब हो जाते थे, और कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता था।

3. आज के समय मे यह हथियार इतना फेमस है की लोगो की पहली पसंद बनी हुई है। शायद इसीलिए हर साल इससे लगभग ढाई लाख लोगो की हत्याए कर दी जाती है। जिसमे से दो लाख लोगो की हत्याए ISIS जैसे आतंकवादियों द्वारा कर दी जाती है।

4. ज्यादातर आतंकवादियो के हांथों मे AK 47 ही दिखाई देती है, क्योकी इसे चलाना बहोत आसान होता है। AK-47 का वजन 4 किलो होता है और इसकी लम्बाई 3 फुट होती है। जिसके कारण इसे उठाकर चलना या भागना आसान हो जाता है।

5. यह हथियार ऑटोमैटिक और सेमी ऑटोमैटिक दोनों तरह से काम करती है। जब ऑटोमैटिक मोड पर होती है तब एक बार ट्रिगर दबाने पर ही सारी गोलिया बाहर निकाल आती है। पर सेमी ऑटोमैटिक मोड मे एक बार मे सिर्फ एक गोली ही चलती है।

6. इसमे एक मिनट मे लगातार 600 गोलिया दागी जा सकती है। जिसकी रेंज 300 से 400 मीटर की होती है। एक सेकंड मे लगभग 10 गोलिया जिससे बचना नामुमकिन होता है।

7. यह वजन मे हल्का होता है और इसे चलाने पर शरीर मे प्रेशर भी कम आता है। बहोत ही कम समय मे गोलियो की बौछार कर सकता है। इसलिए इसे बच्चे भी बड़े आराम से चला सकते है। यही वजह है की कम उम्र के नक्सली और आतंकवादी इसे अपने हांथों मे लिए हुए दिखाई देते है।

8. इसकी सबसे बड़ी खूबी ये भी है की इसे किसी भी परिस्थिती मे चलाया जा सकता है, यह रेत व पानी मे भी चल सकती है। इतनी सारी ख़ूबियो की वजह से ही इस हथियार का उपयोग 106 देशो की मिलिट्री फोर्सेस कर रही है।

9. हालाकी इसे पहली बार रूस मे बनाया गया था पर वर्तमान मे AK-47 बनाने का लाइसेंस 30 देशो के पास है। जिसमे से चाइना सबसे ज्यादा हथियार निर्माण करता है।  आज पूरी दुनिया मे लगभग 10 करोड़ एके-47 है। इस हथियार का उपयोग दुनिया मे सबसे ज्यादा किया जाता है, इसीलिए इसका नाम गिनीस बुक ऑफ वल्ड रिकॉर्ड मे शामिल है यानी हर 70 लोगो पर एक।

10. कहा जाता है ओसामा को सोवियत संघ से लड़ने के लिए अमेरिका ने उसे पहली एके 47 दी थी, जो आज आतंकियों की पहचान बन गया है। इसे मौत का दूसरा नाम भी कहा जाता है इसीलिए किसी भी देश के नागरिक को एके – 47 रखने की इजाजत नही है।

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *