जानिए क्या है कीवी के फायदे, कई गुणो का खजाना है कीवी

कीवी के फायदे

कीवी के फायदे तो बहोत है, क्योकी इसमे कई गुणो का खजाना भरा होता है। सरदियों मे इसे खाने से शरीर मे गर्मी बनी रहती है व यह शरीर की रोग प्रतीरोधक क्षमता को बढ़ा देती है। इसमे विटामिन सी, फोलिक एसिड और फाइबर भरपूर मात्रा मे उपस्थित होते है। इसमे मौजूद कई तरह के पौष्टिक तत्व कई गंभीर रोगो को हमसे दूर रखते है। तो चलिए जानते है

कीवी के फायदे ( Benefits of kiwi fruits in hindi )

कोलेस्ट्रॉल कम करने मे

कीवी के प्रतीदिन सेवन से शरीर मे उपस्थित बैड कोलेस्ट्रॉल धीरे-धीरे कम होने लगता है और गुड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है। इसमे हुए एक अध्यन के अनुसार बढ़ते बैड कोलेस्ट्रॉल रोगियो को हर दिन कीवी खाने की सलाह दी गई और उसके दो सप्ताह बाद दोबारा उनका कोलेस्ट्रॉल लेवल चेक किया गया। परिणाम ये निकाला की उनका बैड कोलेस्ट्रॉल पहले की तुलना मे सामान्य हो चुका था। इसे ये साबित होता है की कीवी के फायदे बढ़ते कोलेस्ट्रॉल को कम कर देते है।

डेंगू, चिकनगुनिया मे फायदेमंद

डेंगू के बुखार या चिकनगुनिया मे शरीर के बल्ड प्लेट्स काफी कम हो जाते है। लेकिन कीवी के फल खाने से ये ब्लड प्लेट्स की संख्या बढ़ने लगती है। इसीलिए यह डेंगू और चिकनगुनिया के इलाज मे काफी प्रभावी रूप से काम करते है। डॉ भी शरीर मे बल्ड प्लेट्स की कमी के चलते कीवी खानी की सलाह देते है।

आर्थराइटिस मे फायदेमंद

कीवी के फायदे आर्थराइटिस मे भी देखने को मिलते है। यह आर्थराइटिस के मरीजो के लिए बहोत लाभकारी होता है। क्योकी इसे नियमित रूप मे खाने से शरीर के अंदरूनी घाव भरने लगते है और इसके अलावा सूजन भी कम हो जाती है।

इंफेकशन का ख़तरा कम होता है

कीवी मे विटामिन सी, विटामिन ई और कई तरह के पॉलीफेनाल के आलावा भी एंटी ऑक्सीडेंट पाये जाते है। ये शरीर को बहोत से इंफेकशन मे बचा कर रखते है। इसके कारण जुकाम और अन्य संक्रमित रोग हमारे शरीर पर हावी नही हो पाते।

कीवी कई गुणकारी तत्वो से भरा है पर इसका अधिक मात्रा मे सेवन आपको नुकसान पहुचा सकता है। इसीलिए एक पूरी तरह स्वस्थ व्यक्ती के लिए प्रतीदिन दो कीवी फल खाना बेहतर होगा। अगर आपको कीवी के कारण किसी तरह का नुकसान हो रहा है तो डॉ से सलाह जरूर ले। क्योकी हो सकता है आपको कीवी से एलर्जी हो।

You may also like...

2 Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *