इन पॉच कारणो से दूर करे stage मे बोलने का डर और बने एक अच्छा SPEAKER

इन पॉच कारणो से दूर करे stage मे बोलने का डर और बने एक अच्छा SPEAKER

ek insaan ka sabase bada dar hota hai logo ke samaane bolne ka dar to ham kaise is dar ko door kare jab ham kai logo ko stage par bina ruke lagatar bolte huye dekhaate hai aur unke liye taliya bajai jatee hai to  aisa lagta hai kash ye taliya ye shor hamare liye bhi hota to bhot achchha lagta yaha par kuchh reason diye hai jiski madad se aap apna dar door kar sakte hai.

इन पॉच कारणो से दूर करे stage मे बोलने का डर और बने एक अच्छा SPEAKER

इन पॉच कारणो से दूर करे stage मे बोलने का डर और बने एक अच्छा SPEAKER

नये लोगो से मिलें

stage मे बोलने के डर को दूर करने का सबसे पहला चरण है नये-नये लोगो से मिलना। आप जितना ज्यादा नये लोगो से मिलोगे आपका डर और शर्मिलापन उतना ही कम होगा व आपके अंदर नया आत्म विश्वास जागेगा। नये लोगो से मिलने पर आपको नयी बाते भी सिखने और जानने को मिलेगी, आपका ज्ञान भी धीरे-धीरे बढता जायेगा। हर दिन आपको अलग-अलग व्यक्तियो से उनकी अलग-अलग knowledge मिलेगी  और आपके लिये ये किसी रोचक अनुभव से कम नही होगा।

नये लोगो से मिलने पर आपकी communication skill भी निखरेगी और आपके शब्द स्पष्ठ और साफ हो जायेंगे व हिचकिचाहट भी दूर हो जायेगी।

सीखते रहें

हमेशा सीखते रहें चाहे वो सीख किसी बच्चे द्वारा दी गई क्यो ना हो। किसी सफल क्यक्ती ने कहा है सीखने की कोइ उम्र नही होती तो भले ही आपकी उम्र 80साल ही क्यो ना हो सीखना बंद ना करे। अगर खाली समय है तो इसे ऐसे ही ना बिताये कुछ books पढे क्योकी books पढने से आपकी general knowledge भी अच्छी होगी। आप चाहें तो किसी महान पुरुष के बारे मे उसकी जीवनी पढ सकते है जो आपको आंगे बढने के लिये हमेशा प्ररिर करती रहेगी और आपके डर को भी कम करेगी।

अगर कुछ सीखने की चाह रखते हो तो बच्चो को अपनी प्रेरणा बनाओ क्योकी बच्चे हमेशा सीखते है और सीखने की कोशिस करते है।

speaker को सुनें

किसी महान व्यक्ती ने कहा है की एक अच्छा चरवाहा बनना है तो चरवाहे से पूछो इसका मतलब यह है की आपको जिस क्षेत्र मे भी जाना है उस क्षेत्र के सफल व्यक्ती से सफलता के गुण सिखो,अगर आपको एक अच्छा speaker बनना है तो stage के अच्छे speaker को ध्यान से सुनना होगा क्योकी एक अच्छा श्रोता ही एक अच्छा वक्ता बन सकता है। speaker की बातो को सुने और गौर करे की वे किन शब्दो और भाषा का प्रयोग करते है।

अभ्यास करें (practice)

एक अच्छा speaker बनने के लिये बहोत अभ्यास की जरूरत पडती है। किसी भी क्षेत्र मे लगातार अभ्यास करने से उसमे महारत हासिल कर सकते है इसीलिये अभ्यास करे इससे आपका डर धीरे-धीरे कम होने लगेगा और confidence level भी काफी बढ जायेगा। शुरुआत मे आप खुद को एक आइने के सामने रखे और बोले जैसे की किसी stage मे बोलने के लिये खडे हो इससे अपका हौसला बढेगा व आप बेहतर प्रदर्शन कर पायेंगे। जब आपका अभ्यास अच्छा हो जाये तो किसी परीवार के सदस्य या अपने एक या दो दोस्तो के सामने बोले और जैसे-जैसे confidence level बढे लोगो की संख्या बढाते जाइये। आप देखेंगे कुछ समय मे आपका डर कम हो जायेगा।

अभ्यास किसी ब्रम्हास्त्र से कम नही है इसीलिये ये कहावत है की

”  करत-करत अभ्यास के जडमती होत सुजान  “
”    रस्सी आवत-जात है शिल पर होत निशान  “

यहॉ पर कहा गया है –
बार-बार अभ्यास करने से एक मुर्ख व्यक्ती उसी प्रकार सभ्य बन जाता है जिस प्रकार बार-बार रस्सि के आने-जाने से कठोर पत्थर पर भी निसान आ जाते है

ध्यान करे (meditation)

(Meditation) ध्यान  हमारे मन को  और हमारे अंदर छुपे हुये डर को  नियंत्रण  रखना सिखाता है। अगर आप प्रतीदिन समय निकालकर
Meditation करते है तो आप धीरे-धीरे एक जगह मन को केन्द्रित करना सीख जायेंगे और जिस विषय पर बोलना चाहते है उसे समझने मे ज्यादा दिक्कत नही होगी और आप बेहतर ढंग से तैयारी कर पायेंगे। विशेसज्ञो का मानना है की प्रतीदिन Meditation करने से दिमाक दुरुस्त होता है और आपकी याददास्त भी बढती है।

 
dar ko hatane ke liye 2 logo se   chhoti suruaat kare phir dheere-dheere badaye
in pancho ka upyog karke aap apne dar ko door kar sakte hai.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *