इन बातों से पता चलता है कि पुरुष और महिला कितने अलग हैं

.

इन बातों से पता चलता है कि पुरुष और महिला कितने अलग हैं

एक महिला और पुरुष मे बहोत अंतर होता है यह तो हम जानते ही है। पर इस अंंतर को लेकर काफी समय से विवाद होता चला आ रहा है। आज महिलाओ को पुरुषो के बराबर का दर्जा दिया जाने लगा है। पर फिर भी यह अंतर कितना है आज हम आपको बातायेंगे कुछ तत्थो से

तो चलिये जानते है दोनो मे किन चीजो पर असमानताये है

कपडे उतारने का तरीका

differense of men and women in hindi

image-brightside.me

एक पुरुष व महिला दोनो ही अलग-अलग तरीको से कपडो को उतारते है। ज्यादातर पुरुष कपडे उतारने के लिये अपने हॉथ को कंधे से पीछे ले जाते हुये कपडो को खीचकर उतारते है। जबकी महिलाए अपने कपडे उतारने के लिये अपने दोनो हॉथो को विपरीत दिशा मे ले जाकर कपडे के नीचे के हिस्से को पकडकर उपर की ओर ले जातीं है। हालाकी कुछ पुरुष भी इस कपडे उतारने के लिये इस तरीके को अपनाते है। पर वो ज्यादातर पतले होते है।

काम करने का तरीका

दोनो की संरचना अलग-अलग होने के कारण काम करने के तरीको मे भी फर्क होता है। अगर महिलाओ की बात की जाय तो वे बहोत से कामो को एक साथ कर सकती है। पर सामन तौर पर पुरुष ऐसा नही कर सकते वे एक समय पर सिर्फ एक काम पर ही focus करते है। यह आपको आपके घर पर ही देखने को मिल जायेगा क्योकी जो house wife, माये होती है। वे घर का काम, बच्चो को तैयार करना या उनकी देखभाल करना सब एक साथ ही करती है। और पुरुष सिर्फ अपना काम करते है।

याद रखने की क्षमता

महिलाये किसी भी चीज को पुरुषो के मुकाबले ज्यादा अच्छे से याद रख सकती है। शायद इसीलिये उन्हे शादी की तारिक, मुलाकात का दिन जैसी चीजे याद रहती है। दूसरी तरफ पुरुषो मे ऐसा नही होता कहा जाता है महिलाओ का दिमागी हिस्सा Hippocampus पुरुषो की तुलना मे ज्यादा active रहता है।

लेकिन अगर बात की जाय रास्तो को याद रखने की तो ये पुरुष बेहतर कर सकते है। इसकी खास वजह है यात्रा आदीकाल से शिकार के लिये पुरुषो को ही बाहर जाना होता था और कई बार तो वे शिकार की तलास मे दूर भी निकाल जाते थे। इसके अलावा और भी कई कारण थे जिसकी वजह से उन्हे रास्ते याद रखने मे आसानी होती है।

बैठने का तरीका

कही भी बैठने के लिये महिलाये अपने दोनो पैरो को cross करके बैठती हैं। अपने पैरो को एक के उपर एक रखकर बैठती है या फिर बैठते समय अपने दोनो घुटनो को जोड लेती है। पर ज्यादातर आदमी अपने घुटनो को खोलकर बैठना पसंद करते है कहा जाता है यह एक तरह अपनी शक्ती दिखाना भी हो सकती है। शायद ऐसा पहनावे की वजह से भी हो या फिर शारीरिक बनावट की वजह से।

हॉथ दिखाने का तरीका

अगर आप कभी किसी पुरुष को अपना हॉथ दिखाने के लिये कहेंगे तो पहले तो वह अपना हॉथ पीछे लेगा। बाद मे अपना हॉथ दिखाता भी है तो अपनी हथेलियो को दिखायेगा लेकिन महिलाओ मे ऐसा नही है वो हथेली के पीछे वाले हिस्से को ही सबसे पहले आंगे करती है। इसके कई कारण हो सकते है पर पक्के तौर पर नही बताया जा सकता।

मुसीबत का सामना करना

जब सामान्यता कोइ महिला मुसीबत मे फसती है या फिर किसी तरह की समस्या का सामना कर रही होती है तो वो अपनी समस्याओ को बाटना शुरु कर देतीं है। मॉ को बताती है, दोस्तो के साथ share करती है, रिस्तेदारो को फोन करती है यहा तक की कभी-कभी साथ सफर कर रहे लोगो को भी बता देती है। पर मर्दो के मामले मे ऐसा कम ही होता है वे शांती मे बैठना पसंद करते है, टीवी देखते है इसके बाद समस्या का हल निकालने की कोशिस करते है।

आवाज को सुनना

कहा जाता है महिलाये मर्दो की तुलना मे आवाज को ज्यादा अच्छी तरह से समझ सकती है। क्योकी कई बार जब उनका बच्चा रो रहा होता है तो वे दूर से ही समझ जाती है। इसमे पुरुषो को समझने मे देर लगती है। 

 the source of this article is brightside.me

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *