दुनिया के अनोखे व रंग-बिरंगे मेढक जानकर हैरान रह जायेंगे आप

दुनिया के अनोखे व रंग-बिरंगे मेढक जानकर हैरान रह जायेंगे आप

The world’s unique and colorful frog you will be surprised to know about (in hindi)

दुनिया मे मेढको की 150 प्रजातिया पाई जाती हैं जिनमे से कई आश्चर्य जनिक और अनोखे है। सभी प्रजातियो की अपनी अलग-अलग खूबिया है क्या आप जानते है इसमे से कुछ रंग-बिरंगे मेढको के बारे मे

Amazon milk frog

source of image is pinimg.com

source of image is pinimg.com

साउथ अमेरिका के अमेजॉन रैनफोरेस्ट मे पाया जाने वाला ये मेढक सफेद व भूरे रंग का होता है इसे अन्य नाम Mission golden-eyed tree frog के नाम से भी जाना जाता है। इसे milk frog इसलिये कहा जाता है क्योकी जब ये बहोत डरा हुआ होता है या फिर किसी तरह का तनाव होता है तो इसके शरीर से सफेद दूध जैसे तरल पदार्थ निकलता है। मेढक की इस प्रजाती को सबसे पहले Brazil के एक नदी मे पाया गया था। Amazon milk frog नमी युक्त वर्षा के जंगलो मे रहने के योग्य होता है और वहॉ के पेडो मे पाया जाता है। इन मेढको की लम्बाई 2.4 इंच से 4.0 इंच तक हो सकती है। इनके शरीर मे काले व भूरे रंग के उभरे हुये धब्बे होते है जो उम्र के साथ ही गहरे होते चले जाते है।

The Poison Dart Frog

The Poison Dart Frog

The Poison Dart Frog

Central और South America मे रहने वाले इन मेढको को  कई नामो जैसे dart-poison frog, poison frog या फिर poison arrow frog के नाम से जाना जाता है। इन मेढको का शरीर चटक व गहरे चमकीले रंग के होते है जो कई अलग-अलग रंगो मे पाये जाते है। देखने मे ये चमकीले रंगो के कारण बहोत सुन्दर दिखाई देते है पर इनका पूरा शरीर दुनिया के सबसे खतरनाक toxic जहर से भरा होता है। मेढको के जहर की पहचान उनके शरीर पर इन चटक रंगो से की जा सकती है जिसका शरीर जितना ज्यादा गहरे रंग का होता है उनमे जहर उतना ही ज्यादा होता है। The Poison Dart Frog का शरीर काफी छोटा होता है एक वयस्क मेढक की लम्बाई 0.59 इंच से लेकर 2 इंच तक होती है।

Golden Mantella Frog

source of image is berkeley.edu

source of image is berkeley.edu

golden mantella frog को दुनिया के सबसे छोटे मेढको मे गिना जाता है जिनकी लम्बाई 25mm तक होती है। इन मेढको की प्रजाती तीन रंगो (yellow, orange, or red ) मे पाई जाती है। ये रंग इन्हे आकर्षक बनाते है व शिकारियो को इनसे दूर रखते है। अकसर शिकारी इनके गहरे रंग को देखकर जहरीला होने का अनुमान लगाता है और उन्हे छोड देता है । ये मेढक छोटे-मोटे कीडो व चीटियो को अपना भोजन बनाते हैं। मई से अक्टूबर महीने मे ये कोई प्रतीक्रिया नही देते पर बरसात के समय मे व गर्मी बढने से इनमे हलचल शुरु हो जाता है। golden mantella frog अपने अंडे पानी के पास उपस्थित नमी वाले पत्तो मे ही देते है जिससे की बरसात आते ही अंडो से निकले बच्चे (tadpole) पानी मे आ जायें।

Darwin’s Frog

source of image is ytimg.com

source of image is ytimg.com

Darwin’s Frog देखने मे बहोत ही अदभुत व अनोखा मेढक लगता है इसकी संरचना किसी पत्ते की तरह होती है जो इसे इसके शिकारियो से बचाकर रखता है व शिकार करने मे मदद करता है। इसे इसके अन्य नाम southern Darwin’s frog से भी पहचाना जाता है। Darwin’s Frog नामक मेढक की ये प्रजाती दो रंगो (भूरा,हरा) मे पाई जाती है। जिसका मुख्य भोजन पानी व जमीन मे रहने वाले कीडे-मकोडे होते है।

Panamanian Golden Frog

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *