भारत के Top 10 महत्वपूर्ण भाषाए

अगर भाषाओ (languages) की बात की जाय तो भारत मे अनेक भाषाओ का प्रयोग किया जाता है। यहा लगभग 52 प्रकार की भाषाये और 1652 प्रकार की बोलिया बोली जाती है। भारत मे बोली जाने वाली languages को चार भागो मे बाटा गया है।

  1. हिन्दी आर्य भाषा
  2. द्रविण भाषा
  3. आस्ट्रो-एशियाई भाषा
  4. तिब्बती बर्मी भाषा

हिन्दी आर्य भाषा मे संस्कृत, हिन्दी, भोजपुरी, पंजाबी, मराठी सहीत 20 भाषाओ को शामिल किया गया है। द्रविण मे तुलु, तमिल, तेलुगु, कन्नड, मलयालम और कुरुख शामिल है। इसी प्रकार आस्ट्रो मे दो व तिब्बती बर्मी मे सात भाषाओ का प्रयोग होता है। इन सभी भाषाओ मे हिन्दी आर्य भारत 70% से ज्यादा बोली जाती है। इतने सारे भाषाओ मे हम बात करेंगे भारत के दस सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा के बारे मे

india top 10 languages भारत के दस सबसे लोकप्रिय भाषा

हिन्दी

हिन्दी भारत मे सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा है इसका उपयोग सरकारी कार्यो मे राज भाषा के रूप मे किया जाता है। यह पूरे विस्व मे पॉचवी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है। सिर्फ देश भर मे 41% लोग इसका उपयोग मातृ भाषा व लगभग 10 करोड लोग दूसरी भाषा के रूप मे करते है। सन 2001 मे हुये सर्वे के अनुसार 52 करोड से ज्यादा लोगो के द्वारा इसका उपयोग किया जाता है।

अंग्रेजी (English)

अंग्रेजी एक विदेशी भाषा है फिर भी इसका चलन तेजी से बढ रहा है। भारत मे आज 2 से 3 लाख लोग english को मुख्य भाषा के रूप मे बोलते है। पर सबसे बडी बात है की english का प्रयोग दूसरी भाषा के रूप मे भारत की 12% जनसंख्या करती है। जिनकी आबादी लगभग 12 से 13 करोड है।

बंगाली भाषा (বাংলা)

बंगाली भारत मे सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाने वाली तीसरी language है जिसे हम बांग्ला के नाम से भी जानते है। देश मे यह मुख्यरूप से पश्चिम बंगाल मे बोली जाती है इसके अलावा त्रिपुरा और असम मे कुछ जगह प्रयोग की जाती है। देश मे 9 करोड लोग बंगाली बोलते है यह भाषा दुनिया के top 10 language मे अपना स्थान रखती है।

तेलुगु

यह दक्षिणभारत मे बोली जाने वाली language है जिसका उपयोग देश की 7% प्रतीशत जनसंख्या मातृभाषा के रूप करती है। तेलुगु मुख्य रूप से आन्ध्रप्रदेश और तेलंगाना मे बोली जाती है इसके अलावा तमिलनाडु, कर्नाटक व ओडीशा मे भी इस्तेमाल की जाती है। अगर total तेलुगु बोलने वालो की संख्या देखी जाय तो 8 करोड से ज्यादा लोग इसका उपयोग करते है।

मराठी

मराठी का उपयोग महाराष्ट्र् मे मुख्यरूप से की जाती है और इसे गोवा व महाराष्ट्र मे राजभाषा के रूप मे उपयोग किया जाता है। मराठी देश की चौथी व पूरे विस्व की 19वी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली language है। भारत मे 7 करोड लोग इसका उपयोग मातृभाषा व 95 लाख लोग दूसरी भाषा के रूप मे करते है इस प्रकार देश के 8% लोग मराठी माषी है।

तमिल (தமிழ்)

तमिल भारत की सबसे प्राचीन भाषाओ मे से एक है यह तमिलनाडु, पाडुचेरी, श्रीलंका और सिंगापुर मे राजभाषा के रूप मे उपयोग की जाती है। इसे सर्वाधिक तमिलनाडु और श्रीलंका मे बोला जाता है। इस भाषा की खास बात यह् है की  इतनी प्राचीन होने के बाद भी आज सफलता पूर्वक लोगो द्वारा कही जाती है।

उर्दू (اُردُو)

भारत मे उर्दू का उपयोग करने वालो की संख्या लगभग 5 करोड है। यह देश की सरकारी भाषाओ मे से एक भाषा है जो बिहार, उत्तर प्रदेश, दिल्ली तेलंगाना मे उपयोग होती है। उर्दू हिन्दी-आर्य भाषा मे आती है

कन्नड (ಕನ್ನಡ)

कन्नड कर्नाटक की मुख्यभाषा व राजभाषा है इसका प्रयोग लगभग एक हजार साल पहले से किया जा रहा है। भारत मे लगभग 3 करोड 80 लाख लोग कन्नड को मातृभाषा के रूप मे उपयोग करते है व एक करोड लोग दूसरी भाषा के रूप मे प्रयोग करते है। कन्नड मे बहोत से शब्द संस्कृत के शामिल है इसलिये इसे देश की classical language भी कहते है।

गुजराती (ગુજરાતી)

गुजराती भारत मे गुजरात व मुम्बई मे सबसे ज्यादा बोली जाती है इसके अलावा विदेशो के कई हिस्सो मे भी इन्हे बोला जाता है। भारत की 4% आबादी गुजराती को मातृभाषा के रूप मे बोलते है।

उडिया  (ଓରିୟା)

उडिया का उपयोग भारत के ओडीसा राज्य मे मुख्यरूप से किया जाता है इसके अलावा ओडीसा की राजभाषा भी उडिया ही है। य़ह एक आर्यभाषा है जिसका उपयोग भारत के 3% लोग मातृभाषा के रूप मे  व 30 लाख लोग दूसरी भाषा के रूप करते है।

 

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *