गर्मीयो के मौसम मे बच्चो को कैसे रखे बिमारियो से दूर ( childcare in summer season )

गर्मीयो के मौसम मे बच्चो को कैसे रखे बिमारियो से दूर ( childcare in summer season )

children in summer
गर्मीयो का मौसम शुरु हो चुका है बच्चे इस मौसम का बेसब्री से इंत्जार करते है उनके लिये गर्मीयो का मतलब है छुट्टियॉ और ढेर सारी ऑइस क्रीम। गर्मीया मनोरजन तो लाती है पर गर्मीयो के साथ आती है कई बिमारिया जिससे बच्चे अनजान होते है।इस्लिये हम इसमे जानेंगे कि कैसे गर्मीयो मे बच्चो को सुर्क्षित रखा जा सकता है।
बच्चो का शरीर बडो कि तुलना मे बहोत कमजोर होता है इस्लिये गर्मीयो में लू लगना, चक्कर आना , उलटी-दस्त का होना और घमोरिया जैसी कई बिमारियो का सामना करना पड सकता हैं। इन बिमारियो से बच्चो को बचाने के लिये इन उपायो को अपना सकते है।
बच्चो को दे सही आहार और सही मात्रा मे
गर्मी के दिनो मे खाने मे ज्यादा मसालेदार खाने का उपयोग ना करे क्योकि गर्मीयो मे शारीरिक पाचन शक्ती कम हो जाती है इस्लिये इन्हे पचाने मे मुस्किल होती है और ये पूरी तरह पच नही पाती फिर् गैस , अपच जैसी दिक्कते आती है।
 अगर बच्चो के साथ कही बाहर खाने जा रहे है तो ध्यान दे कि कहि वो ज्यादा मात्रा मे तो नही खा रहा अगर खा रहा है तो उसे रोके ऐसा करने से बच्चो को उल्टी-दस्त से बचाया जा सकता है।
घर पर बनी चीजो को महत्व दे
मौसमी फल खाने के लिये दे और खाने मे मौसमी हरी सब्जीयो का उपयोग करे

  

पानी को बनाये मजेदार और स्वाद से भरपूर 

खेल-खेल मे बच्चे किसी और दुनियॉ मे खोये रहते है और सही मात्रा मे पानी नही पी पाते इस्लिये पानी का टेस्ट बदले जिससे वे उसकी तरफ आकर्शित हो और पानी का ज्यादा से ज्यादा सेवन करे।
 बच्चो को कडी धुप से आने के बाद तुरंत ठंडा पानी ना पीने दे बीच मे थोडे समय का अंतर रखे।
पानी मे ग्लुकोज घोलकर पिलाये 
पहनावे मे दे ध्यान
गर्मीयो मे बच्चो को टाइट कपडे ना पहनाये टाइट कपडे शरीर मे गर्मी और पसीना बढाते है जिससे डिहाड्रेसन का खतरा बढ जाता है इसलिये हल्के और सूती कपडे पहनने को दे।
गर्मी के मोसम में बच्चो को खुले शरीर और नंगे पाँव धुप में ना निकलने दे।इससे लू का खतरा अधिक होता है।
 खाली पेट बाहर ना जाने दे
कभी-कभी बच्चे खाली पेट हि बाहर धूप मे खेलने निकल जाते है और धूप मे खेलने के कारण चक्कर खाकर गिर पडते है इस्लिये खाली पेट बाहर ना भेजे।
 अगर धुप बहोत ज्यादा तेज है तो उन्हे बाहर हि  ना जाने दे।
 
अगर आप इन छोटी-छोटी बातो पर ध्यान देंगे तो बच्चो को  आने वाली बिमारियो से बचाया जा सकता है।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *