बनाई खुद की पहचान और बन गई करोडो की मालकिन :- सौम्या गुप्ता

बनाई खुद की पहचान और बन गई करोडो की मालकिन :- Saumya gupta

saumya

सौम्या (Saumya gupta) एक आम लड्की थी पर उसके कामो ने उसे आम से खास बना दिया है। सौम्या ने अपनी लगन और मेहनत से ऐसा मुकाम हासिल किया जिससे सबकी बोलती बन्द हो गई। सफलता से पहले हार भी मिली पर सौम्या को झुका नही सकी।  

सौम्या गुप्ता आज टेन ऑफ टेन क़म्पनी की मालकिन और एक एंटरप्रेन्योर है आज उनकी कम्पनी करोडो कि बन चुकी है। उन्होने ये मुकाम बहोत मुस्किलो के बाद हासिल किया है कई बार लोगो ने कहा कि आप ये नही कर पायेंगी पर सौम्या ने अपने बुलन्द हौसलो से सबको मात दे दी। सौम्या गुप्ता बचपन से हि पायलट बनकर उडान भरना चाहती थीं लेकिन आंगे का सफर काफी मुसकिलो भरा होने वाला था।

पायलट की ट्रैनिंग करने के लिये सौम्या यूएस चली गई पर मेहनत करने के बाद भी सौम्या को वो नही मिला जिसकी वे हकदार थी क्योकी उस समय 2008 मे आर्थिक मन्दी का समय चल रहा था और इसमे पायलट भी बुरी तरह प्रभावित हुये। यही से सौम्या की कठीनाईया शुरु हुई।

नौकरी पाने के लिये सौम्या ने कई एयरलाईन मे बात की पर कही भी नौकरी नही मिली इन मुसकिलो समय मे सौम्या के माता पिता ने साथ तो दिया पर पायलट ट्रनिंग मे 50 लाख तक खर्च हो चुके थे इस्लिये उन्होने सौम्या को कोइ दुसरी नौकरी करने के लिये प्रेरित किया।

पायलट की पढाई के बाद सौम्या को किसी और क्षेत्र मे काम मिलना बहोत मुस्किल था और 12 पास से अच्छी नौकरी नही मिल सकती थी पर सौम्या को ये भी डर था की लोग क्या कहेंगे इतना पैसा खर्च करने के बाद भी कुछ नही मिला। माता-पिता के कहने पर सौम्या ने 12वी पास से नौकरी की तलास शुरु कर दी।

guptasaumya

कुछ समय के बाद सौम्या को कॉल सेंटोर मे 20’000 प्रती माह के हिसाब से नौकरी मिल गई पर सौम्या को ये काम कुछ खास पसन्द नही आया वो इसके लिये नही बनी थी अलग और बडा करना चाहती सौम्या की इसी सोच ने उन्हे ये नौकरी छोडने पर मजबूर कर दिया।
  
नौकरी छोडने के बाद सौम्या ने फैशनेबल कपडो को बेचने का सोचा और मॉ से बात की पर कम उम्र होने के कारण् बैंक से भी लोन नही मिल सकता था सभी कामो मे कही ना कही कठनाईया आ रही थी पर इच्छाशक्ती के सामने कठीनाईया छोटी होती है।   सौम्या ने फैशनेबल कपडो को इकट्ठा किया काम यही खत्म नही हुआ अब सबसे बडी मुस्किल कपडो के प्रचार के लिये मॉडल को हायर करना था और अच्छे मॉडलो की फीस भी काफी ज्यादा थी इसलिये सौम्या ने शुरु मे अपने कपडो के लिये एक दोस्त से फ्री मे फोटोशूट कराया फिर सफलता देखते हुये कई कॉलेज स्टुडेंट से मॉडलिंग करवाई और धीरे-धीरे सारे समस्याये हल होती गई।

छोटे से हिस्से से शुरु हुई ये कम्पनी आज भारत की जानी-मानी कम्पनी बन चुकी है सौम्या के काम और काम के प्रती जुनून देखते हुये उन्हे साल 2015 मे उन्हें वुमन एंटरप्रेन्योर 2015 का अवॉर्ड दिया गया था। saumya आज लाखो युवाओ की प्रेरणा बन चुकी है।

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *