गुलाब का फूल है इन मर्जो की दवा, जानना चाहेंगे आप

benefits of rose flower in hindi

गुलाब (Rose) का फूल लगभग हर किसी का पसंदीदा फूल है शायद इसीलिये इसे फूलो का राजा भी कहा जाता है। गुलाब सभी देशो मे अलग-अलग नामो और रंगो मे पाया जाता है। गुलाब का फूल खुशबूदार व मनमोहक होता है इसका औषधीयो मे भी काफी महत्व है। इसे औषधी मे महाकुमारी, शतपत्री के नाम से जाना जाता है। गुलाब के खुशबू और गुनो के कारण इसका प्रयोग कई तरह के व्यंजनो मे भी किया जाता है।

विश्वभर मे इसकी कुल 100 से भी अधिक प्रकातिया पाई जाती है। जिसमे से कई प्रजातिया एशियाई मूल की है कहा जाता है गुलाब के कारण दो देशो मे युद्ध भी हो चुका है तो आप समझ ही सकते है की यह कितनी महत्वपूर्ण है।

गुलाब में एंटीसेप्टिक और एंटीफंगल गुण होता हैं इसके अलावा ये लैक्सेटिव और ड्यूरेटिक गुणों से भी भरपूर होता है। लैक्सेटिव और ड्यूरेटिक शरीर के मेटाबॉलिज्म को ठीक करने का काम करते है।

benefits of rose flower

गुलाब इनके लिये है बेहद फायदेमंद / Benefits of rose flower

त्वचा

त्वचा को सुन्दर व कोमल बनाने के लिये गुलाबजल का प्रयोग करना चाहिये। क्योकी यह त्वचा को बाहरी बैक्टेरिया व जीवाणुओ से सुरक्षित रखता है और त्वचा मे निखार लाता है। रोजाना इस जल के प्रयोग से चेहरे पर आई झुर्रिया भी हाटाई जा सकती है। गुलाबजल के प्रयोग से चेहरे मे नमी बरकरार रहती है जिसके कारण चेहरा चमकदार बना रहता है।

बालो

गुलाबजल का प्रयोग बालो मे प्रतीदिन करने से बाल मजबूत होते है और उनमे डेंड्रफ की समस्या भी नही होती। गुलाबजल बालो के लिये कंडिशनर की तरह काम करता है। गुलाबजल बालो से आ रही अनचाही दुर्गंध को भी खत्म करता है जिससे वे हमेशा खुशबूदार बने रहतें है।

आंखो

गुलाब के फूल से बना गुलाबजल आंखो के लिये लाभकारी होता है।अगर आपके आंखो मे थकावट और जलन महसूस हो तो गुलाबजल को आंखो मे डालने से ठंडक महसूस होती है और जलन कम हो जाती है। अगर आप ज्यादा देर तक कमप्युटर या टीबी का इस्तेमाल करते है तो सोने से पहले इसे अपनी आंखो मे डाले। इससे आराम तो मिलेगा ही साथ मे आंखो पर जमा कचरा भी साफ हो जायेगा।

दांत

गुलाब की पंखुडिया खाने से मुह की बदबू तो दूर होती ही है साथ मे दांत और मसूडे भी मजबूत हो जाते है। जानकारो के अनुसार मुह की पायरिया को हटाने के लिये इसका उपयोग किया जा सकता है गुलाब की पंखुडिया इसमे भी लाभकारी होतीं है।

पेट के रोगो के लिये

पेट के कारण होने वाले रोगो को दूर करने के लिये या इनसे बचाव के लिये खाने के बाद गुलकंद का प्रयोग करना चाहिये। गुलाब से बना गुलकंद पाचन को ठीक करता है और बिमारियो को शरीर से दूर रखता है व पेट के टॉक्सिन को हटाता है।

टी.बी मे

विशेषज्ञो का कहना है की प्रतीदिन गुलाब का सेवन करने से टी.बी. जैसे रोगो का असर कम किया जा सकता है।

नोट: अगर आपको गुलाब से किसी भी प्रकार की एलर्जी है तो पहले डॉ से सलाह जरूर ले। जरूरी नही है की दूसरो पर कारगर यह तरीका आप पर भी कारगर हो।

keyword- gulaab ke fayde, benefits of rose flower in hindi, benefits of flowers, gulaab ka fool hai in marjo ki dava

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *